पीएम केयर्स फंड में 69 दिन में लगभग 9690 करोड़ रु आए।

प्रधानमंत्री मोदी ने  कोरोना महामारी से लड़ने के लिए  28 मार्च को पीएम केयर्स फंड बनाया था।

 



:-इसमें सरकारी संस्थाओं से 5349 करोड़  रूपया और निजी संस्थाओं से 4223 करोड़ रुपया मिले हैं।

:-इसमें सबसे ज्यादा डोनेट टाटा ने दिया, टाटा सन्स ने 500 करोड़ रुपया और टाटा ट्रस्ट ने 1 हजार करोड़ रुपया दिए हैं जबकि बॉलीवुड से 40 करोड़ रुपए से भी कम मिले।

इस फंड में 28 मार्च के बाद से 4 जून तक लगभग 9690 करोड़ रुपए का डोनेट हुआ हैं। ये डोनेट बॉलीवुड सेलेब्रिटी, प्राइवेट कंपनियां, प्राइवेट कंपनियों के कर्मचारियों, सरकारी संस्थाएं, केंद्र मंत्रालय के अधीन आने वाली कंपनियां या संस्थाएं, सरकारी कर्मचारियों, खेल संस्थाएं और खिलाड़ियों, कुछ एनजीओ और कुछ लोगों से मिला है। इसमें से भी सबसे ज्यादा 5349 करोड़ रुपए सरकारी संस्थाओं, सरकारी कर्मचारियों की एक दिन की तनख्वाह से मिले हैं। जबकि, निजी संस्थाओं और कॉर्पोरेट और कारोबारियों से 4223 करोड़ रुपए से ज्यादा का डोनेट आया है।

इसमें 60% डोनेट केवल 10 जगहों से ही हैं।

कोरॉना वायरस से लड़ने के लिए बनाए गए इस फंड में 60% डोनेट केवल 10 जगहों से ही आया है। सबसे ज्यादा 1500 करोड़ रुपए का डोनेट टाटा सन्स और टाटा ट्रस्ट ने दिया है। टाटा सन्स ने 500 करोड़ रुपए और टाटा ट्रस्ट ने 1 हजार करोड़ रुपए दिए हैं। इसके बाद ऊर्जा मंत्रालय की अधीन संस्थाएं कंपनियों की तरफ से 925 करोड़ रुपए का डोनेट मिला है। जबकि, रक्षा मंत्रालय की तरफ से 500 करोड़ रुपए मिले हैं। CDS General (Chief of Defence Staff) बिपिन रावत ने तो एक साल तक हर महीने 50 हजार रुपए पीएम केयर्स पीएम केयर्स फंड में देने का फैसला किया । 

अभी PM CARES FUND से केवल 3100 करोड़ रुपए खर्च हुए।

13 मई को PMO के तरफ से बताया गया कि PM CARES FUND  में आए डोनेट से 3100 करोड़ रुपए खर्च किए गए हैं। इनमें से 2 हजार करोड़ रुपए से 50 हजार मेड इन इंडिया वेंटिलेटर खरीदे जाएंगे। जबकि, बाकी के हजार करोड़ रुपए प्रवासी मजदूरों और 100 करोड़ रुपए वैक्सीन की रिसर्च पर खर्च होंगे।



Leave a Comment

Your email address will not be published.