Popular

पीएम केयर्स फंड में 69 दिन में लगभग 9690 करोड़ रु आए।

प्रधानमंत्री मोदी ने  कोरोना महामारी से लड़ने के लिए  28 मार्च को पीएम केयर्स फंड बनाया था।

 



:-इसमें सरकारी संस्थाओं से 5349 करोड़  रूपया और निजी संस्थाओं से 4223 करोड़ रुपया मिले हैं।

:-इसमें सबसे ज्यादा डोनेट टाटा ने दिया, टाटा सन्स ने 500 करोड़ रुपया और टाटा ट्रस्ट ने 1 हजार करोड़ रुपया दिए हैं जबकि बॉलीवुड से 40 करोड़ रुपए से भी कम मिले।

इस फंड में 28 मार्च के बाद से 4 जून तक लगभग 9690 करोड़ रुपए का डोनेट हुआ हैं। ये डोनेट बॉलीवुड सेलेब्रिटी, प्राइवेट कंपनियां, प्राइवेट कंपनियों के कर्मचारियों, सरकारी संस्थाएं, केंद्र मंत्रालय के अधीन आने वाली कंपनियां या संस्थाएं, सरकारी कर्मचारियों, खेल संस्थाएं और खिलाड़ियों, कुछ एनजीओ और कुछ लोगों से मिला है। इसमें से भी सबसे ज्यादा 5349 करोड़ रुपए सरकारी संस्थाओं, सरकारी कर्मचारियों की एक दिन की तनख्वाह से मिले हैं। जबकि, निजी संस्थाओं और कॉर्पोरेट और कारोबारियों से 4223 करोड़ रुपए से ज्यादा का डोनेट आया है।

इसमें 60% डोनेट केवल 10 जगहों से ही हैं।

कोरॉना वायरस से लड़ने के लिए बनाए गए इस फंड में 60% डोनेट केवल 10 जगहों से ही आया है। सबसे ज्यादा 1500 करोड़ रुपए का डोनेट टाटा सन्स और टाटा ट्रस्ट ने दिया है। टाटा सन्स ने 500 करोड़ रुपए और टाटा ट्रस्ट ने 1 हजार करोड़ रुपए दिए हैं। इसके बाद ऊर्जा मंत्रालय की अधीन संस्थाएं कंपनियों की तरफ से 925 करोड़ रुपए का डोनेट मिला है। जबकि, रक्षा मंत्रालय की तरफ से 500 करोड़ रुपए मिले हैं। CDS General (Chief of Defence Staff) बिपिन रावत ने तो एक साल तक हर महीने 50 हजार रुपए पीएम केयर्स पीएम केयर्स फंड में देने का फैसला किया । 

अभी PM CARES FUND से केवल 3100 करोड़ रुपए खर्च हुए।

13 मई को PMO के तरफ से बताया गया कि PM CARES FUND  में आए डोनेट से 3100 करोड़ रुपए खर्च किए गए हैं। इनमें से 2 हजार करोड़ रुपए से 50 हजार मेड इन इंडिया वेंटिलेटर खरीदे जाएंगे। जबकि, बाकी के हजार करोड़ रुपए प्रवासी मजदूरों और 100 करोड़ रुपए वैक्सीन की रिसर्च पर खर्च होंगे।



BSEB Class 10th Top Ten Topper List

Top 10 Toper List:-


जिला स्कूल का नाम विद्यार्थी का नाम प्राप्त अंक
रोहतास    जनता हाई स्कूल तेनौज हिमांशु राज 481
समस्तीपुर एसके हाई स्कूल जितवारपुर दुर्गेश कुमार 480
भोजपुर    श्री हरखेन कुमार जैन ज्ञान स्थली आरा शुभम कुमार 478
औरंगाबाद   पटेल हाई स्कूल दौड़नगर राजवीर 478
अरवल बालिका हाई स्कूल जूली कुमारी   478
लखीसराय  हाई स्कूल अमारपुर लखीसराय सन्नू कुमार 477
औरंगाबाद  अशोक हाई स्कूल दौड़नगर मुन्ना कुमार 477
औरंगाबाद पटेल हाई स्कूल दौड़नगर नवनीत कुमार 477 
रोहतास  एनएसएस हाई स्कूल निशान नगर बद्दी रनजीत कुमार गुप्ता 476
अररिया हाई स्कूल अररिया  अंकित राज    475
सहरसा   हाई स्कूल चैनपुर पारारी स्तुति मिश्रा    475
सीतामढ़ी   जगेश्वर हाई स्कूल भूताही  अंशुमान कुमार  475
समस्तीपुर रोकृत गर्ल्स हाई स्कूल ज्योति कुमारी 475
समस्तीपुर  किसान हाई स्कूल, मोरसंद दीपांशु प्रिय 475
रोहतास  गंगोत्री प्रोजेक्ट गर्ल्स हाई स्कूल छेनारी आफरीन तलत  475
औरंगाबाद  पटेल हाई स्कूल दौड़नगर अंकित कुमार 475
जमूई सिमुलतला आवासीय विद्यालय राज रंजन 474 
बेगुसराय स्वास्थ्यवर्धक प्रासविकृत हरिजन हाई स्कूल जगडार शशि कुमार 474
मधुबनी सोनेलाल महतो हाई स्कूल जोरला विकास कुमार 474
पुर्णिया लिलजु हाई स्कूल बुरहिया शुभम राज   473
जमुई  सिमुलतला आवासीय विद्यालय बमबम कुमार 473
बांका अबध बिहारी पंडित हाई स्कूल जिलेबिया मोर अदित्य राज 473
रोहतास  एनएस हाई स्कूल निशान नगर, बद्दी, राकेश कुमार गुप्ता 473
रोहतास आरआर हाई स्कूल गोरारी रोहतास अर्चना कुमारी 473
जहानाबाद हाई स्कूल मखदूमपुर रौशन कुमार 473
बेगुसराय उत्क्रमित एम एस पंसाला नवनीत आनंद   472
पूर्वी चंपारण एस एच हाई स्कूल तिकाहन  भवानीपुर शुभम कुमार  472
समस्तीपुर  आर हाई स्कूल, सोहमा, समस्तीपुर  साक्षी कुमारी  472
भोजपुर आर जे हाई स्कूल उदवंत नगर भोजपुर अनुराग राज 472
औरंगाबाद पटेल हाई स्कूल दौड़नगर सत्यम कुमार   472
जहानाबाद हाई स्कूल हुलास गंज जहानाबाद हेमंत राज 472
अररिया प्रोजेक्ट गर्ल्स हाई स्कूल नरपतगंज पायल कुमार 471
जमुई  सिमुलतला आवासीय विद्यालय जमुई रोहित कुमार  471
सहरसा जिला स्कूल आदित्य कुमार 471
समस्तीपुर हाई स्कूल लगमा शुभम प्रकाश 471
रोहतास एनएसएस हाई स्कूल निशान नगर बद्दी, संतोष कुमार   471
रोहतास हाई स्कूल कोछास रोहतास शहजाद आलम  471
रोहतास   एसएस रसूलपुर प्रिया कुमार 471
कैमूर हाई स्कूल सिसवार   प्रदीप कुमार 471
गया  किसान हाई स्कूल शिव नगर ननदई देवचंद डिह   मधुमाला कुमारी 471
सिवान वीएम हाई स्कूल स्लोक तुलस्यान   471

पीएम मोदी ने विशेष आर्थिक पैकेज की घोषणा की।

विशेष आर्थिक पैकेज की घोषणा :-                

कोरोना वायरस संकट के बीच मैं विशेष आर्थिक पैकेज की घोषणा किया जाएगा।
  • ये पैकेज आत्मनिर्भर भारत अभियान की अहम कड़ी के तौर पर काम करेगा।
  • हाल ही में सरकार ने कोरोना वायरस संकट से जुड़ी जो आर्थिक घोषणाएं की थीं। और आज जिस पैकेज का एलान हो रहा है, उसे जोड़ दें तो ये करीब 20 लाख करोड़ रुपये का है। 
  • ये पैकेज भारत की जीडीपी का करीब 10 प्रतिशत है।
  • इन सबके जरिए देश के विभिन्न वर्गों को 20 लाख करोड़ रुपये का सहयोग मिलेगा। 
  • 20 लाख करोड़ का ये पैकेज 2020 में देश की विकास यात्रा को नई गति देगा। 
  • आत्मनिर्भर भारत के संकल्प पूरा करने के लिए इस पैकेज में लैंड, लेबर, लिक्विडिटी सभी पर बल दिया है।
  • हमारे कुटीर, गृह उद्योग, छोटो उद्योगों के लिए हैं जो करोड़ों लोगों की आजीविका का साधन हैं।
  • ये आर्थिक पैकेज देश के उस श्रमिक व किसान के लिए है जो हर स्थिति हर मौसम में देशवासियों के लिए दिन-रात परिश्रम करता है।
  • ये पैकेज उस मध्यम वर्ग के लिए है जो ईमानदारी से टैक्स देता है। 

लॉकडाउन 4.0 नए रंगरूप वाला होगा:-      कोरोना  लंबे समय तक हमारे जीवन का हिस्सा रहेगा, लेकिन हमारी जिंदगी इसके इर्द गिर्द ही नहीं बनी रह सकती हैं। हम सोशल डिस्टेंसिंग का पालन करेंगे , मास्क पहनेंगे और काम भी करेंगे।

  • लॉकडाउन 4 नए रंगरूप वाला होगा, नए नियमों वाला होगा। 
  • राज्यों से जो सुझाव मिले हैं उसके मुताबिक ही इसकी जानकारी 18 मई से पहले दी जाएगी।
  • हम कोरोना से लड़ेंगे भी और आगे भी बढ़ेंगे। 
  • कहते हैं जो हमारे वश में है, वही सुख है, आत्मनिर्भरता हमें सुख और संतोष देने के साथ सशक्त भी करेगी। 
  • आप सभी से अपील करता हूं कि अपने स्वास्थ्य का, परिवार का जरूर ध्यान रखिए। 

तेलंगाना से झारखंड के लिए रवाना हुई स्पेशल ट्रेन,1200 मजदूर को लेकर।

लॉकडाउन की वजह से देश के अलग-अलग हिस्सों में फंसे हुए  मजदूरों को घर लाने का काम शुरू हो गया है।केंद्रीय गृह मंत्रालय की Permission मिलने के बाद अलग-अलग  राज्य सरकारें अपने राज्य के मजदूरों को वापस लाने की तैयारी में हैं। तेलंगाना  में फंसे मजदूरों को लाने के लिए एक स्पेशल ट्रेन की व्यवस्था की गई हैं जो कि आज रात को झारखंड पहुंचेगी। आप को बता दें की  इस 🚆 ट्रेन में कुल 1200 मजदूर ही हैं।

शुक्रवार सुबह 5 बजे तेलंगाना के लिंगमपेल्ली से ये ट्रेन चली जो आज रात को 11 बजे झारखंड के हटिया पहुंचेगी। इस ट्रेन में कुल 24 कोच हैं, ऐसे में उम्मीद लगाई जा रही है। कि बड़ी संख्या में मजदूर वापस पहुंचेंगे। इस ट्रेन में कुल 1200 मजदूरों को वापस लाया जा रहा है। हर एक कोच में सिर्फ 56 मजदूरों को बैठने की इजाजत दी गई है।

अभी मजदूरों के लिए ट्रेन चलाने का ऐलान नहीं हुआ है। लेकिन इस स्पेशल ट्रेन पर रेल मंत्रालय का कहना है कि राज्य सरकार की अपील पर इसे चलाया गया है। जिसमें सभी तरह के नियमों का पालन किया गया है। ये सिर्फ इकलौती ट्रेन थी। जिसे चलाया गया है। 

कई राज्य सरकारों की ओर से केंद्र से अपील की गई है कि मजदूरों को वापस लाने के लिए स्पेशल ट्रेन की व्यवस्था की जाए.

गरीबों में बंटेगी मुफ्त दाल, सार्वजनिक वितरण प्रणाली (PDS) के तहत मीलेगी दाल।

             वित्त मंत्री ने किया  ऐलान                  गरीबों के लिए अच्छी खबर है, सरकार ने कहा है कि देशभर में सार्वजनिक वितरण प्रणाली  (PDS) से जुड़े 20 करोड़ घरों को मई के पहले सप्ताह में मुफ्त दाल दिया जाएगा। इसके लिए 5.88 लाख टन दाल तैयार करने और बड़े पैमाने पर ढुलाई का काम जारी है। अधिकांश लाभार्थी मई के पहले सप्ताह तक पहले महीने का कोटा प्राप्त करेंगे। कई राज्य एक ही बार में तीन महीने के लिए दाल बांटने में सक्षम होंगे। यह सुविधा  प्रधानमंत्री गरीब अन्न योजना (PMGAY) के तहत प्रदान की जाएगी।

जो परिवार सार्वजनिक वितरण प्रणाली (PDS) के तहत पंजीकृत हैं, उन्हें ही प्रधानमंत्री गरीब अन्न योजना के तहत दाल दिया जा रहा है। 

कोरोना वायरस के कारण India. में लागू लॉकडाउन के दौरान गरीबों की जरूरत को ध्यान में रखकर यह कदम उठाया जा रहा है। उपभोक्ता मामलों के मंत्रालय ने कहा है कि अभी तक करीब 30,000 टन दाल का वितरण किया जा चुका है।

देश में 3 May तक Lockdown।

प्रधान मंत्री नरेंद्र मोदी:– प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने भारत में 3 मई तक Lockdown जारी रखने का ऐलान किया है। उन्होंने कहा कि कल यानी 15 अप्रैल को सरकार Lockdown को लेकर नई गाइडलाइन जारी करेगी. उन्होंने कहा कि इस बार लॉकडाउन का पालन और कठोर तरीके से किया जाएगा. वहीं, जिन इलाकों में कोरोना संक्रमण के केस नहीं मिलेंगे वहां 20 अप्रैल से कुछ शर्तों के साथ छूट दी जाएगी. हालांकि, PM मोदी ने यह भी कहा कि छूट के बाद पहला केस मिलते ही फिर से उस इलाके में पूर्ण रूप से Lockdown कर दिया जाएगा।


केंद्र की नरेंद्र मोदी सरकार ने पहले ही इस बात के संकेत दे दिए थे कि लॉकडाउन कुछ दिन के लिए और बढ़ाया जा सकता है. कोरोना के खिलाफ देश की जंग में ये चौथा मौका है जब पीएम मोदी देश को संबोधित किया।

संबोधन में ये बात बोले पीएम मोदी

* भारत में 3 मई तक लॉकडाउन जारी रखने का फैसला किया गया।
* लॉकडाउन को लेकर कल यानी 15 अप्रैल को कुछ गाइडलाइन जारी की जाएगी।
* 20 अप्रैल तक हर राज्य को बड़ी बारीकी से परखा जाएगा।
* जहां नया मामला नहीं होगा वहां 20 अप्रैल से छूट दी जाएगी।
* घर से बाहर निकलने के नियम बहुत शख्स होंगे।
* चुनिंदा जगहों पर गरीब लोगों को कुछ शर्तों के साथ छूट दी जाएगी।
* देश में 220 लैब काम कर रही हैं।
* देश में फिलहाल 1 लाख से ज्यादा बेड तैयार हैं।
* पहले से ज्यादा सख्ती से लागू होगा लॉकडाउन।
हॉटस्पॉट की आशंका वाले क्षेत्रों पर निगरानी रखी जाएगी
* देश में राशन से दवा तक पर्याप्त भंडार मौजूद
* जिन्हें पुरानी बीमारी है उनका खास खयाल रखना होगा
* मास्क और सामाजिक दूरी का ध्यान रखना है
* 3 मई यानी दूसरे चरण में 19 दिन के लिए बढ़ा लॉकडाउन
* किसी को नौकरी से ना निकाला जाए।                    * 
* इम्युनिटी बढ़ाने के लिए आयुष मंत्रालय के सुझावों को अमल में लाएं
* आरोग्य सेतु एप जरूर डाउनलोड करें
* भारत ने समय पर एयरपोर्ट पर स्क्रीनिंग शुरू की
* हमने वक्त रहते 21 दिन के लॉकडाउन का फैसला किया
* 550 केस आते ही देश में लॉकडाउन लगाया गया
* दुनिया के बड़े बड़े देशों की तुलना में भारत की स्थिति बेहतर
* लॉकडाउन में लोग सादगी से अपने त्योहार मना रहे हैं
* भारत ने समस्या के बढ़ने का इंतजार नहीं किया
* जब 100 मरीज हुए तो आइसोलेशन का इंतजाम किया गया
* देशवासियों की जान से बढ़कर कोई चीज नहीं
* राज्य सरकारों ने भी बहुत जिम्मेदारी से काम किया है
* लॉकडाउन और दूरी बनाए रखने से काफी मदद मिला
Live photo 

लालू को मिल सकती है जेल से आजादी, मंत्रिमंडल में पैरोल पर मुहर लगने की उम्‍मीद

Ranchi:- सोमवार को होने वाली कैबिनेट की बैठक में राजद सुप्रीमो लालू प्रसाद की पैराल पर फैसला हो सकता है। कांग्रेस ने खुलकर लालू प्रसाद के पैरोल की वकालत की है। कांग्रेस के मंत्री बादल पत्रलेख ने खुले तौर पर कहा है कि लालू प्रसाद को राहत मिलनी चाहिए तो विधायक इरफान अंसारी भी लालू की जमानत की पैरवी कर रहे हैं। कोरोना के मद़देनजर सात साल की सजा काट रहे कैदियों के लिए सुप्रीम कोर्ट ने जमानत का प्रावधान किया है। चारा घोटाला की सजा काट रहे लालू रिम्‍स में इलाजरत हैं। वह जहां रह रहे हैं, उसके बगल के वार्ड में कोरोना के मरीज रखे जा रहे हैं। वहीं, कोरोना से निपटने के लिए सरकार व्यापक पैमाने पर पैसों का इंतजाम करने में लगी है। इसके लिए केंद्र से भी राशि मांगी गई है। कैबिनेट में इस दिशा में भी कदम उठाया जाएगा। कर्मचारियों के वेतन, ऋण, भत्ता आदि मद में कटौती के भी प्रस्ताव आएंगे।



बाहर निकलने पर पाबंदी, लालू मास्क लगाकर कमरे में बिता रहे दिन-रात।

सोने के समय भी मुंह पर रख रहे कपड़ा।

RIMS HASPITAL RANCHI:- के जिस भवन में कोरोना के संदिग्ध मरीजों को रखा जा रहा है, उसी भवन के पहले तल्ले में लालू प्रसाद भी हैं। चिकित्सक की सलाह में 12 घंटे से ज्यादा मास्क का इस्तेमाल कर रहे हैं, वहीं सोते वक्त भी मुंह में कपड़ा ढंक कर सो रहे हैं। लालू प्रसाद का इलाज कर रहे डॉ उमेश प्रसाद ने बताया कि लालू प्रसाद की उम्र अधिक है। पहले से कई तरह की बीमारी से पीडि़त हैं। इन सभी को देखते हुए उनके सेहत पर विशेष ध्यान दिया जा रहा है।

47 लाख की कार के साथ दफनाया गया ये नेता।

यह मामला South Africa के जोहानिसबर्ग(Johannesburg) का है। जहां United Democratic Movement  के  नेता सैकडो पितेसो (Shekede pittoso)  की मौत हो गई। जिसके बाद उन्हें उनकी अंतिम इच्छा के मुताबिक किसी ताबूत की जगह उनकी पसंदीदा Car E -500  Mercedes में दफनाया गया।

दफनाते समय नेता शेकेडे को Driving सीट पर बैठाया गया। उनके हाथ स्टीयरिंग पर रखे गए।वहीं नेता शेकेडे की बेटी का कहना है कि पिता की ये पसंदीदा कार थी। उन्हें ये बहुत पसंद थी। इस कार को पिताजी ने $62,240 में यानी करीब 47 लाख रुपये में खरीदा था।


उनकी बेटी ने बताया कि उनके पिता कभी अमीर व्यवसायी हुआ करते थे। उस समय उनके पास बहुत से Mercedes Car  हुआ करती थीं। लेकिन कुछ समय बाद उनके बिजनेस में बहुत घाटा हुआ और सारी Car बिक गईं। जिसके बाद उन्होंने Second hand Mercedes Benz खरीदी थी।

दक्षिण अफ्रीका में इस वक्त लॉकडाउन लगा हुआ है।  भीर भी कई लोग इस अनोखे अंतिम संस्कार को देखने के लिए जमा हुए।

Bihar Government के तरफ मिलेगा ₹1000

Bihar Government के तरफ  मिलेगा दूसरे राज्य फसे लोगों ₹1000

बिहार सरकार ने कॉरोना वायरस को देखते हुए यह फैसला लिया है। दूसरे राज्यों में फसे सभी लोगो को ₹1000 मिलेगा।

Photo From aapda.bih.gov.in

यह केवल दूसरे राज्यों में फसे बिहार के लोगो को ही मिलेगा ।
इस राशि को प्राप्त करने के लिए लोगों को आधिकारिक वेबसाइट (aapda.bih.nic.in) पर जाना होगा। 
इसके लिए बिहार सरकार ने एक App lunch किया है।
Bihar Government Site:-Aapda.bih.nic.in

DOWNLOAD कोरोना सहायता ऐप:- Click Here

यह वहीं लोगो के लिए जो अपने गांव या घर से बाहर किसी दूसरे शहर में फसे हैं।  इसके अलवा इसमें आप अपना नंबर डाल कर लॉगिन कर रहे हैं इसके बाद आप को इसमें एक फ्रॉम को भरना होगा।  जिसमें आपको अपना नाम और अपना गांव का स्थान का नाम देना होगा।  इसके बाद में आप से पूछा जाएगा कि आप किस राज्य में हैं।  और कौन सा शहर में पूरा कर रहे हैं से डिटेल भरना हैं।  इसके बाद आपको एक मोबाइल नंबर डाल कर वेरीफाई करना हैं इसके बाद आप उसमे अपना आधार कार्ड और बैंक खाता और आईएफएससी कोड देना होगा का फोटो डालना हैं।  इसके बाद से आप सेल्फी लेना और इस सेल्फी को अपलोड कर देना हैं इसके बाद आपके मोबाइल पर एक चार अंक का ओ बफर होगा यह ओटीपी अपना इसमें डाल देना हैं।  इसके बाद आपके मोबाइल एक मैसेज जाएगा जिसमें बताया जाएगा कि आपका पंजीकरण हो चुका है।  और उसके बाद आपके बैंक खाते में जाएगा 1000 आ जाएगा।